17 दिसंबर 2009

एक कार्टून ......................


7 टिप्‍पणियां:

पं.डी.के.शर्मा"वत्स" ने कहा…

इनके लिए तो संविधान में कोई सजा ही निर्धारित नहीं की गई है :)

Udan Tashtari ने कहा…

हा हा!! डकैती की छूट है!! बम्पर छूट.

ज्ञानदत्त G.D. Pandey ने कहा…

लम्बे समय तक सतत जेब काटना वैधानिक है!

अजय कुमार झा ने कहा…

बात तो ठीक है ..जेबकतरे को भी संसद में भेजा जाए ...मानवाधिकारवादियों कहां हो प्रभु ..देखो क्या हो रहा है ..?

वन्दना अवस्थी दुबे ने कहा…

बहुत सही.

राकेश 'सोहम' ने कहा…

खरी-खरी कह गया जेबकतरा.
स्साले.... जेब भी कटते है
और सीनाजोरी भी..!!.
वो कहते हैं न 'जबरा मारे रोने न दे'.

भारतीय नागरिक - Indian Citizen ने कहा…

सही जगह वार किया है.