11 सितंबर 2009

गाँधी जी होते तो उनके साथ डिनर करना चाहता ..............बराक ओबामा ......................एक कार्टून


11 टिप्‍पणियां:

समयचक्र ने कहा…

बहुत सुन्दर सटीक व्यंग्य . . ...

समयचक्र ने कहा…

सटीक व्यंग्य . .

ज्ञानदत्त पाण्डेय | Gyandutt Pandey ने कहा…

मेरे विचार से ओबामा इतना कुटिल छाप नहीं है!

Udan Tashtari ने कहा…

और किसी के साथ अंडा और मुर्गी बांट लेंगे. :)

mehek ने कहा…

waah jabardast

Mithilesh dubey ने कहा…

बहुत सुन्दर सटीक व्यंग्य....

संजय तिवारी ’संजू’ ने कहा…

Good.

irfan ने कहा…

Doobeji,kya aap chahte hain ki Gandhiji Obama ke sath dinner na karein? hahaha ....baharhaal bahut mazedaar aur lizzatdaar cartoon ke liye badhhee!

IRFAN ने कहा…

Doobeji,kya aap chahte hain ki Gandhiji Obama ke sath dinner na karein? hahaha ....baharhaal bahut mazedaar aur lizzatdaar cartoon ke liye badhhee!

लाल और बवाल (जुगलबन्दी) ने कहा…

हा हा बहुत लाजवाब तंज़।

ANIL ने कहा…

mast hai ............