17 अगस्त 2009

स्वाइनफ्लू पर एक कार्टून ..........


8 टिप्‍पणियां:

IRFAN ने कहा…
इस टिप्पणी को लेखक द्वारा हटा दिया गया है.
irfan ने कहा…

Inhen Bharat mein hi bheja ja raha hai na?Phir ghabrarene ki kya baat hai,bahiyon!

एकलव्य ने कहा…

jabalapur ke liye sateek hai doobeji

डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री मयंक ने कहा…

वाह....
अच्छा जवाब है।
कार्टून लाजवाब है।

बवाल ने कहा…

हा हा डूबेजी आप भी ना बड़े वो हैं हाँ नहीं तो।
बहुत लाजवाब ।

भारतीय नागरिक - Indian Citizen ने कहा…

यह तो बिल्कुल ठीक कहा.

ज्ञानदत्त पाण्डेय | Gyandutt Pandey ने कहा…

मेनका गांधीजी ही सहायता कर सकती हैं इन गरीबों की! :)

अर्शिया ने कहा…

अब तो नाम सुनते भी डर लगता है।
( Treasurer-S. T. )