16 नवंबर 2008

नेताओ पर चला चुनाओ आयोग का डंडा

6 टिप्‍पणियां:

समयचक्र - महेद्र मिश्रा ने कहा…

बहुत ही शानदार व्यंग्य. भाई बधाई .
महेंद्र मिश्रा
जबलपुर.एम.पी.

mehek ने कहा…

:):)bahut hi badhiya

Abhishek ने कहा…

क्या बात है! बहुत ही सटीक व्यंग्य. बधाई.
'मेरे अंचल की कहावतें' में टिप्पणी का धन्यवाद. स्वागत अपनी विरासत को समर्पित मेरे ब्लॉग पर भी.

COMMON MAN ने कहा…

अभी-अभी मैंने आपके तीनों कार्टून देखे जिन्हें मैं पहले नहीं देख पाया था, मजा आ गया, रिफ्रेश हो गया.

sab kuch hanny- hanny ने कहा…

maja aagaya.

kmuskan ने कहा…

bahut badiya.....