8 मई 2008

cartoondubeyji


netaji ka mehangai ke virodh mein upvas

3 टिप्‍पणियां:

anil shrivastava ने कहा…

this is a good cartoon whichis a common phenomenon now a days all the leaders have only the single solution for asll the problem that is fasting
anil a to z indore

yaksh ने कहा…

जिसकी भूख अंतहीन हो,उसकी भूख हडताल खतरा है। हडताल तोडते ही सबको न खा जाए।

अविनाश वाचस्पति ने कहा…

उस एम्‍बुलेंस में रखी
रेडीमेड अर्थी मत दिखला देना
उपवास से पहले ही दौड़ लेगा.