8 मई 2008

cartoon


netaji on foregin trip

2 टिप्‍पणियां:

anil shrivastava ने कहा…

videsh yatra par jane se koi hal nikalta hota to aj tak kitne netao ne yatra ki part desh ka udhar nahin hua
anil a to z indore

yaksh ने कहा…

चिंतन अगर विदेश में हो तो उसका मूल्य बढ जाता है,और यह मूल्य गरीब जनता को चुकाना पडता है।