12 दिसंबर 2010

अमिताभ पेंच टाइगर रेसोर्ट मैं ........एक कार्टून


7 टिप्‍पणियां:

महेन्द्र मिश्र ने कहा…

बहुत ही रोचक शानदार व्यंग्य ... बस डूबेजी एक निवेदन कृपया ब्लॉग पर नियमित बने रहें ....

बवाल ने कहा…

ख़ुद का दर्शन करने लिकले थे टाइगर, कहाँ से होते दर्शन। आइना था जो देख लिया अमिताभ जी ने भी सच का। हा हा। बहुत सटीक तंज़।

प्रवीण पाण्डेय ने कहा…

जब भी होंगे, बचाये जायेंगे।

Kajal Kumar ने कहा…

सही बात है अब ये फ़ौज टाइगर ढूंढने का काम करती है

भारतीय नागरिक - Indian Citizen ने कहा…

टाइगर को खोजना पड़ेगा...

anshumala ने कहा…

एक दो तो थे पर सेव करने के चक्कर वो भी खेत हो गए |

Domain For Sale ने कहा…

हमें उम्मीद है कि आपके इसी तरह के रोचक कार्टून देखने को मिलेंगे