29 नवंबर 2009

मुंबई कांड की बरसी पर एक कार्टून


4 टिप्‍पणियां:

ज्ञानदत्त G.D. Pandey ने कहा…

यह तो शहीदों का देश है!

काजल कुमार Kajal Kumar ने कहा…

देश को नाज़ करने के लिए ऐसे ही लोगों की ज़रूरत जो है

Udan Tashtari ने कहा…

खानदानी शहादत ही होती है...

शरद कोकास ने कहा…

शहादत कभी बेकार नही जाती ....?