1 जुलाई 2009

दाल ७७ रुपये किलो ...........एक कार्टून


13 टिप्‍पणियां:

भारतीय नागरिक - Indian Citizen ने कहा…

YAHI HOGA SIR IS DESH ME. JO DAAL PAIDA KARTA HAI WO TAB BHI BHOOKHA HI MAREGA. DALALON KI CHANDI HAI.

राजीव तनेजा ने कहा…

सही कहा आपने

दिनेशराय द्विवेदी Dineshrai Dwivedi ने कहा…

बहुत मासूम मांगपत्र है। दाल जरूर बनेगी।

अविनाश वाचस्पति ने कहा…

दाल अब वो दाल नहीं रही
जो दाल पहले हुआ करती थी
अब दाल होना बनाना
रसोई के लिए
गौरव का प्रतीक बन गया है।

वन्दना अवस्थी दुबे ने कहा…

सच है..बहुत जल्द अब सदा से उपेक्षित दाल भी विशिष्ट श्रेणी मे आ जायेगी.बढिया कार्टून.

Udan Tashtari ने कहा…

बिल्कुल सही!! सटीक!! :)

संजय बेंगाणी ने कहा…

वे बड़े धनवान है जो दाल रोटी खाते है...

CARTOON TIMES by-manoj sharma Cartoonist ने कहा…

bahut dino ke baad
koi cartoon
dil ko chu gaya

mukesh ने कहा…

wah re mahgai
dal bhi hu parai
ab kaise pet bharga
shayad desh bhookhe hi aage badhega !

cartoonist anurag ने कहा…

bahut hi umda cartoon....

ज्ञानदत्त पाण्डेय | Gyandutt Pandey ने कहा…

और क्या? रोज कोंहड़ा की तरकारी बनती है!

cartoonist ABHISHEK ने कहा…

achchha or bahut hi achchha cartoon....badhai

बवाल ने कहा…

बहुत उम्दा सर। दाल में यही तो काला है। हा हा।