19 फ़रवरी 2009

नेताजी चले मंदी से लड़ने ..........................देखें कार्टून


9 टिप्‍पणियां:

इष्ट देव सांकृत्यायन ने कहा…

ना. ग़लत बात. नेताजी मन्दी से लडने के लिए तलवार का नहीं, घोटालास्त्र और आश्वासनास्त्र का उपयोग करते हैं.

Ratan Singh Shekhawat ने कहा…

बिल्कुल सही नेता मंदी से तलवार से नही घोटालों और आश्वासन से ही लड़ते है ये तलवार तो शायद दिखाने भर को होगी !

सिटिजन ने कहा…

तलवार से नही घोटालों और आश्वासन से ही लड़ते है
सिटीजन: दया और प्रेम की प्रतिमूर्ति स्वामी दयानंद सरस्वती जयंती अवसर : समाज सुधारक ही नही वरन आजादी के भी दीवाने थे ?

ज्ञानदत्त । GD Pandey ने कहा…

विजयी भव!

विष्णु बैरागी ने कहा…

अच्‍छा है।

Udan Tashtari ने कहा…

ढाल और कवच नहीं दिख रहा... :)

गिरीश बिल्लोरे "मुकुल" ने कहा…

खूब सूरत खयाल;
श्रीमन..!
प्रतिपक्षियों की बौद्धिक मंदी
से ज़्यादा कुंठित हैं ?
उधर उनके प्रतिपक्षी भी इसी
तरह ...........?

COMMON MAN ने कहा…

इष्टदेव जी और बाकियों से भी सहमत. ज्ञान जी के आशीर्वाद को भी सेकेन्डेड कर रहा हूं.

anil shrivastava ने कहा…

na talwar ki dhar se na talwar ke maar se bada to darta hai mandi ki maar se.bahut badiya bhaiji.lage raho