8 फ़रवरी 2009


5 टिप्‍पणियां:

विष्णु बैरागी ने कहा…

भविष्‍य का चिकोटीदार वर्णन और दर्शन। सुन्‍दर।

Udan Tashtari ने कहा…

यही होने वाला है. :)

रंजन ने कहा…

बहुत बढ़ीया.. हहहाअहाहाअ

अनिल कान्त : ने कहा…

हा हा हा ....बहुत खूब ..भविष्य दर्शन करा दिए


अनिल कान्त
मेरी कलम - मेरी अभिव्यक्ति

गिरीश बिल्लोरे "मुकुल" ने कहा…

गुरु कहाँ कहाँ तिपियाऊ जी
सारी पोस्ट धाँसू टाइप
की हैं