9 जनवरी 2009

जनता के साथ धोका ......देखें कार्टून डूबेय्जी


10 टिप्‍पणियां:

भारतीय नागरिक - Indian Citizen ने कहा…

हा-हा- असत्यम के सत्य का वर्णन.

समयचक्र ने कहा…

हा हा हा बहुत सटीक दुबे जी बढ़िया लगा .

Gyan Dutt Pandey ने कहा…

नेता ज्यादा धोखेबाज हैँ। ये ज्यादा लूटते हैँ, पर उसकी पर कैपिटा वैल्यू कम होती है तो हल्ला नहीँ होता!

Dr. G. S. NARANG ने कहा…

bahut hi badiya...

श्रुति अग्रवाल ने कहा…

बहुत खूब....अगली बार जबलपुर आना होगा तो आपसे मुलाकात होगी। आपके प्रोफाइल की सबसे अच्छी बात यह है कि परिपक्वता की उम्र में आकर आपने अपने शौक को पुनर्जीवित किया है।

विष्णु बैरागी ने कहा…

ज्ञानजी ने 'सार' बता दिया है।
कार्टून सदैव की तरह तीखा, धारदार।

विधुल्लता ने कहा…

badhiyaa hai

विजय तिवारी " किसलय " ने कहा…

वाह भाई डूबे जी , चोर चोर मौसेरे भाई,
सच है, एक भाई दूसरे भाई
को जल्दी ही पहचान लेता है
अच्छा है .

आपका
-विजय

बवाल ने कहा…

हा हा डूबे जी जिनका पैसा डूबा है वो जनता नहीं सटोरिए हैं. चोर का माल चन्डाल खाए.

गिरीश बिल्लोरे मुकुल ने कहा…

जिसको मिला जहाँ भी मौका दबा लिया
मेरी लाश को सियासी मोंजूं बना लिया
तक़रीर में वो अपनी रोया मेरी लिए
सामने मिला तो चेहरा घुमा लिया