9 मई 2008

cartoon


oye bhajji tussi great ho

3 टिप्‍पणियां:

yaksh ने कहा…

कुछ समय बाद चाँटे पर भी सट्टा न लगने लगे! बहुत खूब....

अविनाश वाचस्पति ने कहा…

वैसे यह पैड
हर भजन के
हाथ पर भी
बांधा जा सकता था.

फिर उसे मैच
से बाहर करने
की भी जरूरत
नहीं पड़ती.

GECJBP1985 ने कहा…

Dear Rajesh, You have really come a long way in the last 30 years. The quality of sketching and the subtle humour is remarkable. This blog has provided me an opportunity to be in touch with your work. Keep it up. Congratulations
Mickey